July 7, 2020

जपला सीमेंट फैक्ट्री के बहुरेंगे दिन! इंग्लैंड की दो मल्टीनेशनल कंपनियों ने दिखाई रुचि

सिटीग्रुप के पदाधिकारी अतुल जाम ने कहा कि कंपनियां उद्योग लगाने से पहले इलाके के बारे में जानना चाहती हैं. लोगों की प्रतिक्रियाओं को समझती है. तभी कंपनी आगे का प्लान करती है.

पलामू. इंग्लैंड की मल्टीनेशनल कंपनी सिटी ग्रुप (City Group) ‌‌व डीएसके (DSK)के पदाधिकारियों ने हुसैनाबाद का दौरा कर उद्योग लगाने की संभावनाओं की जानकारी ली. अधिकारियों ने वर्षो से बंद पड़े जपला सीमेंट फैक्ट्री (Japla Cement Factory) का भी निरीक्षण किया. स्थानीय विधायक कमलेश सिंह के आग्रह पर की कंपनी के पदाधिकारी हुसैनाबाद में कई जगहों का मुआयना किया.अधिकारियों ने लिया जायजा 
सिटीग्रुप के पदाधिकारी अतुल जाम ने कहा कि कंपनियां उद्योग लगाने से पहले इलाके के बारे में जानना चाहती हैं. लोगों की प्रतिक्रियाओं को समझती है. तभी कंपनी आगे का प्लान करती है. आने वाले समय में हमारी कंपनी यहां पर इंडस्ट्री लगाने पर विचार कर रही है. इससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा. डीएसके के पदाधिकारी ने कहा कि हुसैनाबाद इलाका उद्योग लगाने के दृष्टिकोण से अच्छा है. इंडस्ट्री लगने से रोजगार का सृजन होगा. इससे बेरोजगारी की समस्या दूर होगी.स्थानीय एनसीपी नेता सोनल सिंह का कहना है कि विधायक कमलेश सिंह हुसैनाबाद के लोगों के लिए रोजगार पैदा करने चाहते हैं. इसलिए उद्योग लाने की दिशा में काम कर रहे हैं.1992 से बंद है जपला सीमेंट फैक्ट्री
विधायक की इस पहल से वर्षों से बंद पड़े जपला सीमेंट फैक्ट्री और बेरोजगार हुए मजदूरों को फिर से रोजगार पाने की उम्मीद जगी है. 1992 से जपला सीमेंट फैक्ट्री बंद पड़ी है. कभी इस फैक्ट्री में पांच हजार से अधिक मजदूर काम करते थे. रिपोर्ट- नीलकमलये भी पढ़ें- सीएम हेमंत की अधिकारियों को सख्त चेतावनी- गड़बड़ी करने वालों की अब राज्य में जगह नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *